रामा रामा रटते रटते लिरिक्स- भजन मैथिली ठाकुर

रामा रामा रटते रटते बीती रे उमरिया रघुकुल नंदन कब आओगे भीलनी की डगरिया रामा रामा रटते रटते बीती रे उमरिया

मैं शबरी भीलनी की जाई भजन भाव नहीं जानू रे
मैं शबरी भीलनी की जाई भजन भाव नहीं जानू रे राम तुम्हारे दर्शन के हित वन में जीवन पालू रे चरण कमल से निर्मल कर दो दासी की झोपड़ियां रामा.राम.. रटते रटते बीती रे उमरिया

रोज सवेरे बनने जाकर फल चुन चुन चुन चुन कर लाऊंगी रोज सवेरे बनने जाकर फल चुन चुन कर लाऊंगी अपने प्रभु के सन्मुख रखकर प्रेम से भोग लगाऊंगी प्रेम से भोग लगाऊंगी मीठे मीठे बेरों कि मैं भर लाई छबरिया रामा रमा राटते राटते बीती रे उमरिया

सुंदर श्याम सलोनी सूरत नैनन बीच बसाऊंगी सुंदर श्याम सलोनी सूरत नैनन बीच बसाऊंगी पद पंकज की राजधरी मस्तक जीवन सफल बनाऊंगी प्रभु जी मुझको भूल गए क्या क्यों ना ली खबरिय रामा रमा राटते राटते बीती रेउमरिया

राम तेरे दर्शन की प्यासी मैं अबला एक एक मैं अबला एक एक नारी हूं राम तेरे दर्शन की प्यासी मैं अबला एक नारी हूं दर्शन बिन दो नैना तरसे सुन लो बड़ी दुखियारी हूं मुझको दर्शन दे दो दो दयामय डालो एक नजरिया रामा रमा.. रटाते बीती रे उमरिया रघुकुल नंदन कब आओगे भीलनी की डागरिया रामा रमा रटत.. बीती रे उमरिया

और भजन के लिए  यहां क्लिक करें

https://youtu.be/bS4sMNc41Aw

रामा रमा रअटते राटते लिरिक्स भजन मैथिली ठाकुर, हिंदी सुपरहिट भजन लिरिक्स, मैथिली ठाकुर के भजन लिरिक्स, Rama Rama Ratte Ratte biti re umariya Bhajan lyrics, hindi superhit Bhajan lyrics for all Bhajan singer please comment on this page and tell me how i write more lyrics for you