पियावा सिवान से अन्हार भईले आई लिरिक्स, भरत शर्मा व्यास

जनती जे जारल जईबू आग में दहेज के लिरिक्स- भरत शर्मा व्यास

पियावा सिवान से अन्हार भईले आई लिरिक्स, भरत शर्मा व्यास                          आ—अअ..आ——– नयन छुरी से कटारी हो गईल नयन छुरी से कटारी हो गईल रूप के दुनिया पुजारी हो गईल रूप के दुनिया पुजारी हो गईल केहू नजरिया में आके जब बस जाई त … Read more

error: Content is protected !!