सजना सयान हम नादान लिरिक्स, मदन राय के निर्गुण

पिया पिया रटते बदन पियराइल लिरिक्स- मदन राय

सजना सयान हम नादान लिरिक्स, मदन राय      बारी मोरी अबही उमिरिया बारी मोरी अबही उमिरिया आ विधाता दिनवा धई दिहले ए राम, बारी मोरी अबही उमिरिया आ विधाता दिनवा धई दिहले ए राम सजना सयान हम नादान त कइसे के गवानवा जाईब ए राम, सजना सयान हम नादान त कइसे के गवानवा जाईब … Read more

चुनरिया में दाग लग गईल लिरिक्स- मदन राय निर्गुण

चुनरिया में दाग लग गईल लिरिक्स- मदन राय निर्गुण   बइठल रोवेली गुजरिया हो चुनरिया में दाग लग गईल । बइठल रोवेली गुजरिया हो चुनरिया में दाग लग गईल । कइसे जाईं पिया के नगरिया हो कइसे जाईं पिया के नगरिया हो चुनरियां में दाग लग गईल ॥ बइठल रोवेली गुजरिया हो चुन्दरिया में दाग लग गईल आईल बा गवना क हमरो सनेसवा जाएके बा हमरा के पियवा के देशवा । काँच बारी, कांच बारी हमरी उमिरिया हो चुनरियां में दाग लग गईल । कांच बारी हमरी उमिरिया हो चुनरियां में दाग … Read more

error: Content is protected !!