पियेले शराब गांजा तारी- भरत शर्मा व्यास लोकगीत

पियेले शराब गांजा तारी- भरत शर्मा 

                   

आ….. आ…. आ…. आ……           आ….आ….आ….आ…..आ…                            दोहा- एक जानी अपना पति से तंग आके का कह तारी

का मे एगो गुण नईखे कएगो गुण बा सात संगत मे रह कर के
धारा गईल बा

 पियेले शराब गांजा तारी -2
हमार पिया मिलले जुआरी
पियेला शराब गांजा तारी
हमार पिया मिलले जुआरी
          
तिलक में बाबूजी जवन जवन दिहलन
गर्दन के हार बेच शराब गाजा पियेलन
बनकी धाराएल होंडा गाड़ी
बानकी धाराएल होंडा गाड़ी

हमार पिया मिलले जुआरी
बानकी धाराएल होंडा गाड़ी
हमार पिया मिलले जुआरी

खेत बारी गहना सब दाव पर धराईल
घरवा दुआर सस्ते में बिकाईल
हार गईले   ~~   हार गईले
तने पर के सारी
हमार पिया मिलले जुआरी
हार गईले~  ~   हार गईले
तने पर के सारी
हमार पिया मिलले जुआरी

काल्हु तक लोग कहे बड़का घराना घराना
घरवा में आज नईखे डगरल दाना
रोजे ~रोजे उपास रहे हाडी
हमार पिया मिलले जुआरी
रोजे उपास रहे हाडी
हमार पिया मिलले जुआरी

रोवा रोवा जेकर जेकर भरल बाटे ऋण से
चिंता से कहियो सुती नाहीं नींद से
राशन ना~रासन ना देला मारवाड़ी
हमार पिया मिलले जुआरी
रासन ना देला मारवाड़ी
हमार पिया मिलले जुआरी

पंचानन पिया के त नीसा मुझा द
ना हीं त अरुण नईहर पहुंचा द
ना हीं त अरुण नईहर पहुंचा द
नाहीं त अकेले धलेब गारी
नाहीं त अकेले धलेब गारी
हमार पिया मिलले जुआरी
पियेला शराब गांजा तारी 
पियेले शराब गांजा तारी
हमार पिया मिलले जुआरी
हमार पिया मिलले जुआरी-२ 

https://youtu.be/pW4J8IBCHsw