भँवरवा के तोहरा संघे जाइ लिरिक्स, मदन राय लिरिक्स

भँवरवा के तोहरा संघे जाइ

भँवरवा के तोहरा संघे जाइ , भँवरवा के तोहरा संघे जाइ।
के तोहरा संग जाइ   (लिरिक्स)
भँवरवा के तोहरा संघ जाइ , भँवरवा के तोहरा संघ जाइ।

आवे के बेरिया सब केहु जाने , दुआरा पे बाजेला बधाई, बधाई दुआरा पे बाजेला बधाई
आवे के बेरिया सब केहु जानेला , दुआरा पे बाजेला बधाई, बधाई  दुआरा पे बाजेला बधाई

जाए के बेरिया केहू ना जाने ,जाए के बेरिया केहू ना जाने हंस अकेले चली  जाइ।
भँवरवा के तोहरा संघ जाइ ,भँवरवा के तोहरा संघ जाइ।
के तोहरा संग जाइ।
भँवरवा के तोहरा संघ जाइ ,भँवरवा के तोहरा संघ जाइ।

डेहरी पकड़ के मेहरी रोए ,बाँह पकड़ के भाई भाई बाँह पकड़ के भाई।
डेहरी पकड़ के मेहरी रोए ,बाँह पकड़ के भाई भाई बाँह पकड़ के भाई।
बीच अंगनावा माता जी रोवे ,बीच अंगनावा माता जी रोवे बबुआ के होखेला बिदाई।
भँवरवा के तोहरा संघ जाइ ,भँवरवा के तोहरा संघ जाइ। के तोहरा संघ जाइ।
भँवरवा के तोहरा संघ जाइ , भँवरवा के तोहरा संघ जाई

कहत कबीर सुनो भाई साधो ,सतगुरु सरण में जाइ जाई  सतगुरु सरण में जाइ
कहत कबीर सुनो भाई साधो ,सतगुरु सरण में जाइ जाई  सतगुरु सरण में जाइ
जो यह पद के अर्थ बतइहें ,जो यह पद के अर्थ बतइहें जगत पार होइ जाइ।
भँवरवा के तोहरा संघे जाइ ,भँवरवा के तोहरा संघ जाइ।
के तोहरा संघे जाइ।
भँवरवा के तोहरा संघ जाइ ,भँवरवा के तोहरा संघ जाइ।

भारत सरकार की नई-नई योजनाओं के बारे में जानने के लिए हमारे इस वेबसाइट पर विजिट करें

Leave a Comment

error: Content is protected !!