पिया मोरा लेके अइले लिरिक्स – मदन राय निर्गुण

पिया मोरा लेके अइले लिरिक्स - मदन राय निर्गुण

पिया मोरा लेके अइले लिरिक्स – मदन राय निर्गुण     लाली लाली डोलिया हो हमरी दुअरिया पिया मोरा लेके अइले की पिया मोरा लेके आइले संगवा में चारिगो कन्हार पिया मोरा लेके अइले संगवा में चारगो कहार पिया मोरा लेके आइले लाली लाली डोलिया हो हमरी दुअरिया पिया मोरा लेके अइले संगवा में चारिगो … Read more

मन के सांवरिया बन गइल तु लिरिक्स- उदित नारायण, कल्पना

मन के सांवरिया बन गइल तु- उदित नारायण, कल्पना फिल्म – प्रतिज्ञा, कलाकार- दिनेशलाल यादव निरहुआ, पाखी हेगड़े, सिंगर- उदित नारायण और कल्पना, संगीत- राजेश रजनीश  गीतकार – विनय बिहारी   मन के सांवरिया बन गइल तु चुपके से इ का कइल तु नस नस मे तु गइल समाए-2 डाल दिहल परेशानी मे, गजब के … Read more

सुतला में रहनी खाटी- भरत शर्मा व्यास निर्गुण

जनती जे जारल जईबू आग में दहेज के लिरिक्स- भरत शर्मा व्यास

सुतला में रहनी खाटी- भरत शर्मा व्यास निर्गुण अरे सुतला में रहनी खाटी आरे सापना दे..खिले राती रेे सजनी रे रे सजनी रे सपना में पीयवा भेजे एगो पाती नु ए राम रे सजनी रे आहो सजनी रे सपना में…. सुताला में रहनी खाटी आरे सापना देखिले राती रेे सजनी रे रे सजनी रे सपना … Read more

गवना करवला ए हरी जी लिरिक्स- भरत शर्मा व्यास

गवना करवला ए हरी जी लिरिक्स- भरत शर्मा व्यास

     गवना करवला ए हरी जी राजा पिय जनी गांजा लिरिक्स- भरत शर्मा व्यास

आआ…..आआ….. आ.. आ……
दोहा – टिसीरिज एशियाई कम्पनी, टिसीरिज एशियाई कम्पनी, टिसिरिज एशियाई कम्पनी के बा चारो ओर हाल्ला
भारत देश के हर एक प्रांत में ए कंपनी के झंडा फहराला

गवना करवला ए हरी जी अरे गवना करावला ए हरी जी अपने पुरूबवा गईला ए राम
अपने पुरुबवा गइला ए राम

गवना करावला ए हरी जी गवना करावला          ए हरी जी अपने बिदेशवा गईला ए राम

जब जब याद आवे तोहरी सूरतिया
काटला से कटे ना इ बिरहा के रतिया
जिया छछनावला ए हरी जी
जिया छछनावला ए हरी जी
अपने बिदेशवा गईला ए राम

आआ….. आ….आआ……..
कवनो संदेसवा ना पतिया पेठवला
मोर बिरहिनिया के बड़ा तरसवला
रोवां डहकवला ए हरी जी
रोवां डहकवला ए हरी जी
अपने पुरूबावा गईला ए राम

आआ…….…आआ….. ओ….. ओ
रोवां डहकवला ए हरी जी
रोवां डहकवला ए हरी जी
अपने बिदेशवा गईला ए राम

For more lyrics click here

Read more

चुनरिया में दाग लग गईल लिरिक्स- मदन राय निर्गुण

चुनरिया में दाग लग गईल लिरिक्स- मदन राय निर्गुण   बइठल रोवेली गुजरिया हो चुनरिया में दाग लग गईल । बइठल रोवेली गुजरिया हो चुनरिया में दाग लग गईल । कइसे जाईं पिया के नगरिया हो कइसे जाईं पिया के नगरिया हो चुनरियां में दाग लग गईल ॥ बइठल रोवेली गुजरिया हो चुन्दरिया में दाग लग गईल आईल बा गवना क हमरो सनेसवा जाएके बा हमरा के पियवा के देशवा । काँच बारी, कांच बारी हमरी उमिरिया हो चुनरियां में दाग लग गईल । कांच बारी हमरी उमिरिया हो चुनरियां में दाग … Read more