shiva tandava stotram lyrics. शिव तांडव स्तोत्र

shiva tandava stotram lyrics

shiva tandava stotram lyrics, शिव तांडव स्तोत्र                                                         shiva tandava stotram lyrics, शिव तांडव स्तोत्र                            … Read more

जनी जा बिदेसवा की ओर लिरिक्स, भोजपुरी लोकगीत

जनी जा बिदेसवा की ओर लिरिक्स, भोजपुरी लकगीत

जनी जा बिदेसवा की ओर लिरिक्स, भोजपुरी लकगीत                  जनी जा बिदेसवा की ओर बलम हो जानी जा बिदेसवा की ओर होई जईहें सुना मोरा घरवा अंगानवा होई जईहें सुना मोरा घरवा अंगानवा तोहरे दरस बिना कलपी परानवा तोहरे दरस बिना कलपी परानवा होई जईहें सुना मोरा घरवा … Read more

हे शिव शंभू है त्रिपुरारी माया अपरंपार तुम्हारी लिरिक्स

shiva tandava stotram lyrics

हे शिव शंभू है त्रिपुरारी माया अपरंपार तुम्हारी लिरिक्स              हे शिव शंभो.ओ…….. हे त्रिपुरारी.ई…….. माया अपरम्पा…र तुम्हारी.ई…… हे शिव शंभू है त्रिपुरारी माया अपरम्पार तुम्हारी,      आमरधाम कैलाश निवासी विश्वनाथ काशी अधिवासी, सोमनाथ रामेश्वरवासी        सकल तीर्थ की महिमा भारी हे शिव शंभू है त्रिपुरारी माया … Read more

के खोली कपट केवड़िया हो सदगुरु बिना साहेब लिरिक्स, मदन राय

पिया पिया रटते बदन पियराइल लिरिक्स- मदन राय

के खोली कपट केवड़िया हो सदगुरु बिना साहेब लिरिक्स, मदन राय                             के खोली..के खोली कपट केवड़िया हो सदगुरु बिना साहेब को खोली कपट केवाड़िया हो सदगुरु बिना साहेब-2 नईहर में कुछहुं न सिखनी नईहर में कुछहुं न सिखनी-3 ससूरे में भईली  फुहरिया … Read more

जहीया हंसा छोड़ी पराई निर्गुण लिरिक्स, भरत शर्मा व्यास

जनती जे जारल जईबू आग में दहेज के लिरिक्स- भरत शर्मा व्यास

जहीया हंसा छोड़ी पराई निर्गुण लिरिक्स, भरत शर्मा व्यास आआ…..आ..आ..आआ…..आ.. बैध मुआ रोगी मुआ, मुआ सकल संसार एक कबीरा ना मुआ जाके नाम आधार आरे देहिया माटी में मिल जाइ रे जहिया हंसा छोड़ी पराई, देहिया माटी में मिल जाइ रे जहिया हंसा छोड़ी पराई, आरे देहिया होहो…हो आरे देहीय ….. आरे माटी में मिल … Read more

छोड़ीके परईल ए संवरू निर्गुण लिरिक्स, मदन राय

पिया पिया रटते बदन पियराइल लिरिक्स- मदन राय

छोड़ीके परईल ए संवरू निर्गुण लिरिक्स, मदन राय छोड़ीके परईल ए संवरू छोड़ी के परईला ए संवरू कईसे भवनवा रही ए राम कईसे भवनवा रही ए राम छोड़ी के परईला ए संवरू कईसे भवनवा रही ए राम                  कईसे भवनवा रही ए राम जहीया से गइला पठवल न … Read more

error: Content is protected !!