रामा रामा रटते रटते लिरिक्स- भजन मैथिली ठाकुर

रामा रामा रटते रटते लिरिक्स- भजन मैथिली ठाकुर

रामा रामा रटते रटते बीती रे उमरिया रघुकुल नंदन कब आओगे भीलनी की डगरिया रामा रामा रटते रटते बीती रे उमरिया मैं शबरी भीलनी की जाई भजन भाव नहीं जानू रे मैं शबरी भीलनी की जाई भजन भाव नहीं जानू रे राम तुम्हारे दर्शन के हित वन में जीवन पालू रे चरण कमल से निर्मल … Read more