कईसन बारे लक्ष्मण देवरवा लिरिक्स- पूनम शर्मा

कईसन बारे लक्ष्मण देवरवा लिरिक्स- पूनम शर्मा

कईसन बारे लक्ष्मण देवरवा लिरिक्स- पूनम शर्मा हरे राम हरे राम हरे राम हरे हरे हरे कृष्णा हरे कृष्णा हरे कृष्णा हरे हरे कईसन बारे लक्ष्मण देवरवा कैइसन प्रभू जी मोर कईसन बारे लक्ष्मण देवरवा कइसन प्रभू जी मोर पुछतारी सिया हो मईया गिरता नयनवा से लोर पुछतारी सिया हो मईया गिरता नयनवा से लोर … Read more

गवना करवला ए हरी जी लिरिक्स- भरत शर्मा व्यास

गवना करवला ए हरी जी लिरिक्स- भरत शर्मा व्यास

     गवना करवला ए हरी जी राजा पिय जनी गांजा लिरिक्स- भरत शर्मा व्यास

आआ…..आआ….. आ.. आ……
दोहा – टिसीरिज एशियाई कम्पनी, टिसीरिज एशियाई कम्पनी, टिसिरिज एशियाई कम्पनी के बा चारो ओर हाल्ला
भारत देश के हर एक प्रांत में ए कंपनी के झंडा फहराला

गवना करवला ए हरी जी अरे गवना करावला ए हरी जी अपने पुरूबवा गईला ए राम
अपने पुरुबवा गइला ए राम

गवना करावला ए हरी जी गवना करावला          ए हरी जी अपने बिदेशवा गईला ए राम

जब जब याद आवे तोहरी सूरतिया
काटला से कटे ना इ बिरहा के रतिया
जिया छछनावला ए हरी जी
जिया छछनावला ए हरी जी
अपने बिदेशवा गईला ए राम

आआ….. आ….आआ……..
कवनो संदेसवा ना पतिया पेठवला
मोर बिरहिनिया के बड़ा तरसवला
रोवां डहकवला ए हरी जी
रोवां डहकवला ए हरी जी
अपने पुरूबावा गईला ए राम

आआ…….…आआ….. ओ….. ओ
रोवां डहकवला ए हरी जी
रोवां डहकवला ए हरी जी
अपने बिदेशवा गईला ए राम

For more lyrics click here

Read more